डूसू चुनाव 2018: AISA-CYSS का संयुक्त घोषणापत्र

Alliance of AISA and CYSS in DUSU election 2018
Alliance of AISA and CYSS in DUSU election 2018

गुंडागर्दी, निजीकरण और यौन हिंसा का विरोध् करें
बेहतर शिक्षा-बेहतर सुविध के लिए आम छात्रों का आन्दोलनकारी डूसू  चुने

दोस्तों,
आने वाले 12 सितम्बर को होने वाले डूसू चुनावों में आम छात्रों के मुद्दे को पुरजोर ढंग से उठाने और डूसू में एक ऐतिहासिक बदलाव लाने के लिए AISA और CYSS ;आम आदमी पार्टी की छात्रा इकाई ने साथ मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला किया है. विश्वविद्यालय में ABVP और NSUI की
गुंडागर्दी के कारण यहां के शिक्षकों, छात्रो एवं यहां के कर्मचारियों के बीच से बदलाव की,एक सकारात्मक राजनीति की मांग उठ रही थी, उन सभी की भावनाओं को देखते हुए हमने ये फैसला लिया है कि AISA और CYSS मिलकर चुनाव लड़ेंगे। AISA और CYSS के संयुक्त पफैसले के अनुसार अध्यक्ष- उपाध्यक्ष के पद पर AISA के प्रत्याशी और सचिव-उपसचिव के पद
पर CYSS के प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे।

This slideshow requires JavaScript.

DUSU चुनाव में जिन मुख्य मुद्दों पर AISA और CYSS चुनाव लड़ रहे हैं
वह इस प्रकार है

  • कैम्पस में गुंडागर्दी के खिलार्फ Zero Tolerance की नीति अपनाई जाए. गुंडागर्दी को नियंत्रित करने के लिए पुलिस बूथ और CCTV कैमरा की व्यवस्था हो।
  • उच्च शिक्षा में बाजारीकरण के चलते निजीकरण और आॅटोनोमस के खिलाफ AISA और CYSS लगातार संघर्ष कर रही है जिससे छात्रों को सस्ती और बेहतर शिक्षा मिल सके।
  • AC बसों में पास की सुविध करवाना।
  • कैम्पस में महिलाओं की आजादी और सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट की विशाखा जजमेंट के तहत हर काॅलेज में एक स्वायत्त जेंडर सेन्सेटाईजेशन कमेटी का गठन करवाना और एक Anti-Stalking बिल पास करवाना।
  • यू-स्पेशल और विमेंस स्पेशल बस की सुविधा फिर से शुरू करवाना।
  • मेट्रो किराया कम करवाने के लिए लगातार संघर्ष।
  • छात्रों के लिए हाॅस्टल सुविध प्रदान करने के लिए लगातार संघर्ष करना।
  • बेहतरीन सुविधओं से लैस काॅलेज कूल कैंटीन की सुविध करवाना।
  • सभी काॅलेजों में शिक्षकों और कर्मचारियों की स्थायी नियुक्ति के लिए संघर्ष करना।
  • कैम्पस में पीने के साफ और ठन्डे पानी की सुविध करवाना।
  • सभी काॅलेजों और विश्वविद्यालय परिसरों में सैनिटरी पैड वेंडिंग मशीन की व्यवस्था करवाना।
  • हिंदी माध्यम के छात्रों के लिए हिंदी में अध्ययन सामग्री की व्यवस्था और Remedial क्लासेज की व्यवस्था करना।
  • दिल्ली विश्वविद्यालय में छात्रों की बढ़ती संख्या को देखते हुए छात्रों की सीटों में बढ़ोत्तरी करवाना।
  • छात्रों की बढ़ती संख्या को देखते हुए नए काॅलेज एवं सांध्य काॅलेज खुलवाने के लिए संघर्ष करना।
  • युवाओं को वैचारिक रूप से मजबूत करना और उनमें सकारात्मक सोच और सकारात्मक राष्ट्रवाद की भावना को जगाना।
  • विश्वस्तरीय लाइब्रेरी की 24*7 सुविध करवाना तथा छात्राओं के अध्ययन हेतु हाॅस्टल की समयसीमा boys and girls के बराबर करवाना।
  • सभी काॅलेज में काॅलेज आर्काइव और फोटो गैलेरी के लिए संघर्ष।
  • दिव्यांग छात्रों के लिए तकनीकी सुविधओं के लिए संघर्ष।
  • अनुसूचित जाति-जनजाति-पिछड़ा वर्ग के हितों और सामाजिक न्याय के लिए संघर्ष।
  • डोर सेवा के तहत काॅलेज में ड्राइविंग लाइसेन्स की सुविध करवाना।
  • सभी काॅलेज में काॅलेज थिएटर,कैरियर काउन्सलिंग केंद्र और स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स की स्थापना करवाने के लिए संघर्ष।
  • उत्तर-पूर्वी राज्यों से आये छात्रों को भेदभाव से बचाने के लिए जरुरी कदम उठाये जाएँ।
  • दिल्ली विश्वविद्यालय में होने वाली प्रवेश परीक्षाओं के प्रश्न पत्रा हिंदी और अंग्रेजी दोनो माध्यम में कराने के लिए संघर्ष करना।
  • छात्रों की बुनियादी आवासीय सुविधओं के लिए रेंट कंट्रोल एक्ट लागू करवाना।
  • सभी काॅलेज एवं DU कैंपस में मोहल्ला क्लीनिक की तर्ज पर ‘‘छात्रा क्लीनिक’’ का निर्माण करवाना।

To support AISA, Click here to donate.

One Comment

We want to hear from you